loading...

” अपनी ऑफ़िस स्टाफ नम्रता की चुदाई की होटल में ले जाकर”

हाय फ्रेंड

loading...

मेरा नाम महेश है मेरी उम्र 25साल की है और मेरा लंड 6” लम्बा और 3” मोटा है, और मैं यहाँ पर एक प्राइवेट कम्पनी में काम करता हूँ, दोस्तों आज मैं अन्तर्वासना पोर्न स्टोरीज डॉट कॉम के माध्यम से आप सभी पाठकों को बताऊँगा कि, मैंने कैसे मेरी ही कम्पनी में काम करने वाली एक लड़की को पटाकर उसकी चुदाई करी थी, हाँ तो दोस्तों अब मैं अपनी कहानी पर आता हूँ जो कि कुछ इस प्रकार से है!
दोस्तों यह मेरी पहली नौकरी है एक एडमिन की, यह कम्पनी एक छोटी फर्म है तो यहाँ पर इतना स्टाफ भी नहीं था, अरे हाँ दोस्तों मैं आप सभी को उसका नाम तो बताना ही भूल गया उसका नाम मोनिका है, उसकी लम्बाई 5,3फुट की है और वह बला की खूबसूरत थी और उसका फिगर भी 32-28-30 का था, और उसकी उम्र लगभग 19साल की थी, वह शादीशुदा थी और उसने लव मैरिज करी थी लेकिन उसका पति उसको पूरी तरह से सन्तुष्ट नहीं कर पाता था, दोस्तों उसका ऑफीस में दूसरा दिन था और उसने मुझपर नज़र रखनी शुरू कर दी थी, मैं अपने काम में पूरी तरह से व्यस्त था, मैं शाम को करीब 8,00 बजे ऑफिस से घर के लिये निकलता था, तो एक दिन शाम को वह भी ऑफिस से घर के लिये देरी से निकल रही थी तो ऐसे ही मैंने उसके साथ बात करना चालू कर दिया था और मैंने उसके बारे में और उसके घर के बारे मैं पूछा! और फिर दूसरे दिन जब वह ऑफीस में आई तो 1 बजे के आस-पास वह मेरे कैबिन के पास आई और बोली कि,नीचे अंधेरा है और मुझको डर लगता है तो आप मुझको नीचे तक छोड़ दो ना” दोस्तों हमारा ऑफिस तीसरे फ्लोर पर था और उस दिन नीचे की ट्यूबलाईट भी खराब हो गई थी, और फिर मैं उसके साथ नीचे गया और वह मुझको देखकर चुप-चाप चली गई थी और शायद वह मुझसे कुछ उम्मीद कर रही थी, मेरे दिमाग में तो सिर्फ़ काम की बात ही चल रही थी, और फिर 2 घन्टे के बाद वह फिर से मेरे पास आकर फिर से वही बोला, और हम फिर से नीच गये, और तब ग्राउंड फ्लोर पर आकर उसने गिरने का नाटक किया, और तभी मैंने उसका हाथ पकड़कर उसको खींच लिया अपनी तरफ और वह मेरी बाहों में आ गई थी और फिर हम एक-दूसरे को देखने लग गए थे, मुझको उस समय कुछ भी समझ में नहीं आ रहा था कि, मैं अब क्या करूँ, और तभी वह मेरी कमर में चूंटी काटके हँसने लगी तो मैंने उसको छोड़ दिया था, और उसके बालों का रब्बर निकलकर मेरे पास रह गया था तो फिर वह मेरे पास आकर मुझसे अपना रबर माँगने लगी, तो फिर मैंने उसको छेड़ते हुए अपना हाथ ऊपर करके उसको रबर को पकड़ने कहा, उस वजह से वह मेरे पास आकर मेरे हाथ से रबर लेने के लिये मुझसे चिपकने लग गई थी, और तभी मैंने अपना एक हाथ उसकी कमर पर रख दिया था और फिर मैंने उसको अपनी बाहों में जकड़ लिया था, और फिर मैंने उसके गालों पर एक किस किया तो वह शरमा गई थी!
और फिर मुझको भी पता चल गया था कि, सिग्नल ग्रीन है और तभी ऊपर से किसी के आने की आवाज़ आई तो मैंने उसको छोड़ दिया और फिर वह चली गई थी, और फिर अगले दिन से आधा स्टाफ छुट्टी पर जाने वाला था क्यूंकी कोई बड़ा त्यौहार पास में आ रहा था, लेकिन मैं ऑफिस में आया था क्योंकि मुझको ऑफिस में बहुत काम था, और फिर थोड़ी देर के बाद वह भी आ गई थी, और उस दिन ऑफीस में हम सिर्फ़ 7 लोग ही थे, और फिर दोपहर को 4 बजे के आस-पास ऑफिस की लाइट चली गई थी और ऑफिस में पूरा अंधेरा हो गया था, हमारा ऑफिस एक कौने में था, इसलिए वहाँ पर सूरज की रौशनी नहीं आती थी, और फिर वह मेरे कैबिन के पास आकर खड़ी हो गई थी तो मैंने उसको अन्दर आने को कहा, और फिर मैंने उसको पूछा कि, क्या हुआ? तो फिर उसने मायूस होकर कहा कि, कुछ नहीं, मैंने उससे फिर से पूछा तो उसने मुझको बताया कि,कल रात को मेरे पति ने मुझसे जबदस्ती करी और मारा भी, और फिर मैंने उसके पति से गुस्सा होने का नाटक किया और पूछा कि, कहाँ पर मारा? तो उसने अपनी पीठ की तरफ इशारा करते हुए कहा कि, यहाँ पर दर्द हो रहा है, और फिर मैंने उसकी पीठ पर अपना हाथ फेरा और फिर वहाँ पर किस किया तो वह आंह भरने लगी और फिर मैंने उसके गले पर किस किया और उसे अपनी तरफ घुमा दिया और फिर मैं उसके होठों को चूमने लगा, और फिर मैंने उसको अपना मुहँ खोलकर फ्रेंच किस करने को बोला, और फिर उसने अपना मुहँ खोला और फिर हम दोनों एक-दूसरे की जीभ को चूसने लग गए थे, और मेरा एक हाथ उसके चूचीपर गया और दूसरा हाथ उसकी कमर से होता हुआ उसके कूल्हों पर गया!
और फिर मैंने उसकी सलवार के अन्दर हाथ डाल दिया और फिर मैं उसके कूल्हों को मसलने लग गया था, और उससे मेरा लंड खड़ा होकर उसके पेट में चुभ रहा था तो उसने अपना हाथ मेरे लंड पर रख दिया और वह उसको सहलाने लग गई थी, और फिर मैंने फटाफट अपनी पेन्ट की चेन खोल दी थी, और फिर मैंने उसको मेरे अंडरवियर के अन्दर हाथ डालने को कहा, और फिर वह मेरा लंड देखकर खुश हो गई थी क्यूंकी उसके पति का लंड छोटा और पतला था, वो अब एकदम से गरम-गरम साँसें छोड़ने लग गई थी, और फिर मैंने अपना हाथ आगे लाकर उसकी चूत पर रगड़ने लगा था, उसकी चूत के ऊपर बालों का घना जंगल था तो मैंने उससे पूछा कि, तुम इनको साफ़ नहीं करती हो क्या? तो उसने मुझको मना कर दिया और फिर वह मेरे लंड को ऊपर-नीचे करने लग गई थी, और फिर मैंने उसको कहा कि, कल हम ऑफिस से छुट्टी लेकर बाहर किसी लॉज में जाएगे, तो फिर वह मेरी बात को सुनकर खुश हो गई थी और वह मुझको चूमने लग गई थी, और फिर मैंने उसको अपना लंड चूसने कहा तो वह नीचे झुक गई, और फिर वह मेरा लंड बड़े ही प्यार से चूसने लग गई थी, और फिर उसी समय अचानक से लाइट भी आ गई थी और फिर हम एक-दूसरे से अलग हो गए थे, और फिर हमने अगले दिन मिलने का समय और जगह तय की! और फिर अगले दिन मैं उससे मिला तो वह बहुत खुश थी और उसने एक पटियाला सूट पहना हुआ था और उसमें वह बहुत ही सेक्सी लग रही थी, और फिर हम दोनों ऑटो पकड़कर निकलने लगे मैंने उसको ऑटो में अपनी बाहों में ही रखा था और मैं पूरे रास्ते बस उसको चूमता ही रहा और वह भी मेरा साथ दे रही थी, और फिर हम लोग होटल पहुँचे, मैंने वहाँ पर पहले ही कमरा बुक करवा लिया था, वह कमरा थोड़ा छोटा था लेकिन वह पूरा दिन चुदाई के लिए बहुत अच्छा था, और फिर कमरे में आकर हम बेड पर बैठ गये थे, और फिर हमको भूख लगी थी, तो मैंने फोन करके खाना और बीयर ऑर्डर कर दी थी! और फिर वेटर कमरे में सब लेकर आया, और फिर मैंने दरवाजा अन्दर से बन्द कर दिया था, और फिर मैंने बीयर की बोतल खोली और पीने लगा, वह मेरे साइड में बैठी थी, मैंने उसको भी बीयर पीने को कहा तो उसने मना कर दिया था, और फिर मैंने उसे कोई दबाव नहीं डाला था, उसने तो बस खाना खा लिया था, और फिर मैं उसको चूमने लगा और उसके गले पर काटने लगा, और फिर उसके कुरते में हाथ डालकर उसके चूचीको दबाने लग गया था, और फिर मैंने उसका कुरता उतार दिया था, और फिर मैं उसकी ब्रा के ऊपर से उसके चूचीको चाटने लग गया था, और फिर मैंने उसकी ब्रा हटाकर मैं उसके तने हुए भूरे रंग के निप्पल को चूसने लग गया था! और फिर मेरा एक हाथ नीचे उसकी सलवार के नाडे तक पहुँचा और मैंने उसको खोल दिया था, और फिर मैंने उसकी सलवार को एक साइड में उतारकर रख दिया था, और फिर मैंने अपने कपड़े भी उतार दिए थे, और फिर मैंने बीयर का एक घूँट अपने मुहँ में लिया और फिर मैंने उसको चूमते हुए बीयर उसके मुहँ में भी डाल दी थी!
उसे मेरा ऐसा करना अच्छा लगा तो फिर मैंने पूरी ठंडी बीयर उसके चूचीपर डाल दी तो वह एकदम पागल सी हो गई थी, और फिर मैं एक कुत्ते की तरह उसके जिस्म को चाटने लग गया था और वह भी मेरे बालों को सहलाकर मुझको अपनी तरफ खींच रही थी, और फिर मैंने अपना लंड उसके हाथ में दे दिया था और फिर मैंने उसको मेरा लंड चूसने को कहा तो फिर उसने मेरे लंड को चाटना शुरू किया, और फिर उसने थोड़ी बीयर मेरे लंड पर भी डाल दी थी कसम से दोस्तों उस समय मुझको बहुत मज़ा आ रहा था और वह ज़ोर-ज़ोर से मेरे लंड को चूसने लग गई थी और साथ ही वह मेरी दोनों गोटियों को भी सहलाकर चूस रही थी और वह उस समय एक रंडी की तरह लग रही थी, मैं भी उस समय आहें भर रहा था, और फिर मैंने उसे अपनी गोद में ले लिया था और फिर मैंने उसको बेड पर लेटा दिया था, और फिर मैंने उसकी पैन्टी खींचकर खोल डाली थी, और फिर उस दिन मैंने देखा कि, उसकी चूत के पूरे बाल गायब थे और उसकी चूत एकदम चमक रही थी, और फिर मैंने उसकी चूत को चूमा और फिर चूत साफ़ करने के लिये थैंक्स बोला, और फिर मैंने थोड़ी बीयर और ली और उसकी चूत पर भी डाल दी थी, और फिर मैं उसको चूसने लगा तो वह एकदम पागल सी हो गई थी और झड़ भी गई थी, और फिर बीयर का स्वाद और उसके पानी का स्वाद मिलकर एक अलग ही स्वाद दे रहा था, और फिर मैंने अपने लंड को उसकी चूत पर रखा और धक्का दिया तो वह थोड़ा सा चिल्लाने लगी और वह मुझको खुद से दूर करने लगी, और फिर मैंने उसको किस किया और उसकी चूत में फिर से एक और धक्का दिया तो मेरा आधे से ज़्यादा लंड उसकी चूत के अन्दर चला गया था, दोस्तों ये कहानी आप कामलीला डॉट कॉम पर पढ़ रहे है!
और फिर मैंने एक और धक्का मारा तो मेरा पूरा लंड उसकी चूत के अन्दर चला गया था और वह जोर-जोर से चिल्ला रही थी आहहह..उफ्फ्फ..छोड़ दो मुझको प्लीज़, और फिर वह मेरे कन्धे को काटने लगी, मैं अभी भी उसको धक्का दे रहा था, और अब वह भी मज़े लेने लग गई थी, और वह अपनी कमर को उठाकर मेरा साथ देने लग गई थी, और वह फिर से झड़ गई थी, और फिर मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी थी और फिर10-20धक्कों के बाद मैं भी उसकी चूत में ही झड़ गया था और मैंने अपना पूरा माल उसकी चूत में डाल दिया था, और फिर मैं उसके ऊपर ही लेट गया था, और वह मुझको चूम रही थी और मेरे लंड को सहला भी रही थी, और मैं उसके चूची से खेल रहा था!
और फिर 20-25 मिनट के बाद हम फ्रेश होकर होटल से निकल गये थे उसके बाद भी मैं 5-7बार मोनिका को उसी होटल में ले जाकर चोद चुका हूँ

Antarvasna

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...