loading...

फेसबुक पे पटा के आंटी की चूत चुदाई

Antarvasna sex stories, hindi sex stories, desi sex stories, chudai ki kahani, sex kahani

नमस्कार दोस्तो, मै राहुल सिंह अल्लाहाबाद से हूँ, आज आप लोगों को अपनी सच्ची चूत चुदाई की स्टोरी बताने जा रहा हूँ।
मै एथलीट हूँ, अच्छा दीखता हूँ, 6 फिट 1 इंच लंबाई है रंग गोरा, लौड़ा का साइज़ 6 इंच है।

बात आज से एक साल पहले की है, एक दिन मुझे मेरे फेसबुक अकाउंट पर एक महिला की फ्रेंड रिक्वेस्ट आई, मैने ऐड कर लिया।

उसका नाम शितल था (बदला हुआ नाम) देखने में बहुत ही सुन्दर शादीशुदा थी।
धीरे धीरे हमारी चैटिंग शुरू हो गई और हम बहुत अच्छे दोस्त बन गए, पर्सनल बातें शेयर करने लगे।
उसने मुझे बताया कि उसके पति का बहुत बड़ा बिज़नेस है जिसकी वजह से वो ज़्यादा बिजी रहते हैं और उसे ज़्यादा टाइम नहीं दे पाते!
उसकी शादी को 5 साल हो गए थे पर उसके अभी कोई बच्चा नहीं था।

तो इस तरह हमारी रोज़ बातें होने लगी, फिर हमने अपना नंबर भी एक दूसरे को दिया और हमारी फ़ोन पर देर रात तक और व्हाट्सअप पे बात होने लगी।
फिर एक दिन हमने मिलने का प्लान बनाया और उसकी बताई हुई जगह पर मै पहुंचा तो वो अपनी कार में पहले से ही मेरा इंतज़ार कर रही थी।
जब मैने उसे देखा तो देखता ही रह गया, वो जितनी सुन्दर फ़ोटो में थी, उससे कहीं ज़्यादा सुन्दर वो सच में थी। काले टॉप और लाइट ब्लू जीन्स में एकदम हॉट लग रही थी। उसे देखते ही सबसे पहले मेरी नज़र उसके बूब्स पर गई जो बहुत ही आकर्षक थे। 36 साइज़ के उसके लाल होंट और उभरी हुई गांड किसी को भी पागल कर दे।

मै पहली बार उससे मिला तो हमने साथ में कॉफ़ी पी और बातें की, फिर वो मुझे मेरे घर के पास छोड़ के गई।

मै घर पहुंचा, उसको चोदने के बारे में सोचने लगा।

थोड़ी देर में उसका मुझे मेसेज आया- तुमसे मिल कर बहुत बहुत अच्छा लगा… वाकयी तुम बहुत आकर्षक हो। तुम मुझे बहुत पसन्द आये!
मैने तुरंत ही उसको रिप्लाई किया और उसकी तारीफ करता रहा, आखीर में मैने कहा- यार तुम बहुत सेक्सी हो, मेरा मूड ख़राब कर दिया तुमने!
हम बहुत खुल चुके थे तो मै उसको खुल के बोल देता था।

फिर उसने बोला- अच्छा तो मै कैसे ठीक करूँ तुम्हारा मूड?
मैने बोला- एक रात साथ गुजार के!
वो गुस्सा हो गई और बोली- क्या बकवास कर रहे हो? पागल हो क्या?
मैने बोला- जो मेरे मन में था, वही बोल रहा हूँ, अगर तुम्हें बुरा लगा तो सॉरी।

फिर उसका कोई उत्तर नहीं आया, मुझे लगा गुस्सा हो गई तो मैने भी कोई मेसेज नहीं किया।

रात में करीब 12।30 बजे उसका मेसेज आया- क्या तुम सच में मेरे साथ रात गुज़ारना चाहते हो?
मैने कहा- हाँ!
तो बोली- ठीक है, चलो दी तुमको आज की रात! क्या करोगे मेरे साथ?
उस रात को हमने ज़बर्दस्त सेक्स चैट करी।

अब मै उसको चोदने के लिए पागल हो रहा था।

2 दिन बाद उसका फ़ोन आया, उसने बताया कि उसका पति काम के सिलसिले में शहर से बाहर जा रहा है 4 दिन के लिए… वो 3 दिन बाद जाने वाला था तो उसने मुझे बोला कि वो चार दिन मै उसके साथ उसके घर पे ही रहूँ!
मै बहुत खुश हुआ क्योंकि मेरा उसे चोदने का सपना अब पूरा होने वाला था।

यह हिंदी चुदाई की स्टोरी आप अन्तर्वासना पोर्न स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!

वो अपने पति को एअरपोर्ट छोड़ के आई और मुझे अपने साथ अपने घर ले गई। बहुत ही आलिशान घर था उसका अल्लाहाबाद के पोश इलाके में!

loading...

घर में जाते ही मैने उसे पीछे से पकड़ लिया और उसके होंठों पर अपने होंठ रख कर चूसना शुरू किया।
5 मिनट के चुम्बन के बाद बोली- थोड़ा सब्र करो… मै भागी नहीं जा रही हूँ! रुको, चेंज कर के आती हूँ, तुम भी फ्रेश हो लो!

मै गया और बस शॉर्ट्स और टी शर्ट में आ गया।

वो थोड़ी देर में चेंज कर के आई तो उसको देखते ही मेरा लौड़ा खड़ा हो गया, वो एक लाल रंग की नाईटी में जो उसके घुटनों के ऊपर तक थी, पहन कर आई थी, मेरे बगल में बैठ गई, बोली- क्या देख रहे हो?
मै बोला- बहुत सेक्सी लग रही हो तुम!
बोली- बस देखना ही है क्या?
और एक सेक्सी मुस्कान के साथ आँख मार दी।

उसने अंदर कुछ नहीं पहना था, मैने उसका हाथ पकड़ा और अपने ऊपर खींच लिया और उसके होंठों पे अपने होंठ रख कर चूमना शुरू कर दिया, किसिंग के साथ मै उसकी बूब्स भी दबा रहा था धीरे धीरे मैने उसकी नाइटी उतार दी, धीरे धीरे उसकी पूरी बॉडी पे किस के साथ हल्के हल्के काटना शुरू किया।
वो पागल हुए जा रही थी।

फिर एक एक एक करके उसकी बूब्स चूसनी शुरू की, वो इस्स्स्स आःह्हह्ह उफ्फ…’ की आवाज़ के साथ सिसकारियाँ ले रही थी, मेरा सर अपनी बूब्स पे दबा रही थी।
बूब्स चूस कर मै धीरे धीरे किस और हल्का काटते हुए नीचे आने लगा, उसकी नाभि को चूस कर हल्के हल्के कभी जीभ अंदर बाहर करता, कभी हल्के से काट लेता।
वो उछले जा रही थी और सिसकारियाँ ले रही थी।

धीरे से नीचे आकर मैने उसकी चूत पर जैसे ही चूमा, वो सिहर गई और उफफ़्फ… की आवाज़ के साथ एक लंबी सांस ली।
मैने धीरे धीरे उसकी चूत को चूसना शुरू किया, कभी काट लेता और जीभ से उसकी चूत चोद रहा था। वो ‘आआआह्हह फ़क मी प्लीज़ उम्म्ह… अहह… हय… याह… उस्स स्सआआह ह्ह्ह…’ की आवाजें कर रही थी और मेरा सर अपनी चूत पे दबा रही थी।

जीभ के साथ कभी कभी मै एक उंगली भी अंदर डाल दे रहा था।
वो मेरे मुख में ही झड़ गई आआआ आआआह ह्ह… के साथ और ढीली पड़ गई।

मै ऊपर आया और अपना लौड़ा उसके होंठों पे रखा, वो बिना कुछ बोले चूसने लगी, बहुत अच्छी तरह चूस रही थी।
थोड़ी देर चूसने के बाद मैने अपना लौड़ा उसके मुख से निकाल लिया और उसके ऊपर आ गया। उसने अपने पैर खोल दिए। मैने उसकी कमर के नीचे एक तकिया लगाया और अपना लौड़ा उसकी चूत पर रगड़ने लगा। वो तड़पने लगी और बोलने लगी- प्लीज़ चोद दो मुझे… प्लीज़ मत तड़पाओ!

मैने एक बार में ही अपना लौड़ा उसकी चूत में डाल दिया। उसको हल्का दर्द हुआ आआह्हह्ह… क्या कर दिया… आराम से डालता उम्मम म्म्म इस्स स्सस्स!
यह हिंदी चूत चुदाई की स्टोरी आप अन्तर्वासना पोर्न स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!

मैने धीरे उसे चोदना शुरू किया, वो भी कमर उठा उठा कर मेरा साथ दे रही थी। मै उसे अलग अलग पोजीशन में चोदता रहा। इस दौरान वो 2 बार झड़ चुकी थी। अब मेरा भी निकलने वाला था, मैने पूछा- कहाँ निकालूँ?
बोली- अन्दर ही निकाल दो!
4-5 झटकों के साथ मेरा भी निकल गया। मैने पूरा पानी उसकी चूत में ही निकाल दिया और उसके ऊपर ही लेट गया।

उसने मुझे कस के अपनी बाहों में जकड़ लिया। थोड़ी देर ऐसे ही पड़े रहने के बाद दोनों उठे और साथ में नहाए। उस दौरान भी हमने बाथरूम में चुदाई करी।

उसके बाद पूरे 4 दिन मैने लगातार चोदा।

आते टाइम उसने मुझे बताया कि वो माँ बनना चाहती है लेकिन उसके पति में कमी है जो उसे सही से चोद नहीं पाता… पहली बार वो संतुष्ट हुई है।
उसने मुझे 15000 रुपये भी दिए और घर तक छोड़ के गई।

उसके बाद भी हमने कई बार चुदाई करी। फिर एक महीने बाद उसने मुझे बताया कि वो प्रेग्नेंट है! और उसके बाद वो मुझसे चुदी नहीं!

तो यह थी मेरी चूत चुदाई की स्टोरी।

Add a Comment

Your email address will not be published.

loading...