loading...

“मैं मोहिनी मैम की चुदाई की”

Antarvasna sex stories, desi kahani, hindi sex stories, chudai ki kahani,

मैं 5’9 चॉकलेट रंग की ऊंचाई और थोड़ा स्वस्थ होनें के साथ एक औसत लड़का हूं हालांकि शहर में सर्वश्रेष्ठ स्कूलों में से एक होनें के कारण हमें सेक्सी लड़कियों और शिक्षकों की कमी थी लेकिन फिर कहानी की नायिका आता है! जिस व्यक्ति को मैं अपनें पूरे जीवन के लिए भूल नहीं पाता हूं! हमारे नए अर्थशास्त्र शिक्षक मोहिनी| वह गर्म थी उसके सुक्ष्म शरीर के अलावा उसे एक कमबख्त सेक्सी चेहरा और दूध सफेद रंग मिला था| वह 29 साल की थी और 36-28-40 के चौंकानें वाला आंकड़ा था वह कैंडी थी जिसे हम सभी के लिए पसंद करते थे|| उसकी कक्षा में हर कोई चुप होगा! लेकिन बहुत कम नहीं पता था कि उसे हर किसी के मन में बलात्कार किया जा रहा है|
वह स्पष्ट रूप से उसके यौन संबंध के बारे में जानते थे| क्योंकि जब भी मैंनें उसकी आंखों में देखा तो वह एक शरारती मुस्कुराहट से गुजरती थी| मेरे किशोरों के हार्मोन और उसकी आकर्षक कायाकल्प उसके लिए मेरे असंख्य हस्तमैथुन सत्रों का मॉडल होनें के लिए पर्याप्त था

जब भी उसे नोटबुक वापस अपनें कर्मचारियों के कमरे में ले जाना होता था! वह मुझे फोन करती थी और मुझे उस 5 लब्बों के लिए उस लूट को देखनें के लिए सम्मान मिलेगा|
अब! यह घटना दिसंबर के महीनें में हुई! हवा में ठंडा होनें का कारण यह था कि मेरे सभी दोस्त और मेरे पास लगातार ईरेंशन थे|| हम हमेशा खुद को धोनें के लिए जानें और हमारे सदस्यों को समायोजित करनें के लिए माफ़ करनें देंगे|
यह मोहिनी माम की अवधि थी! मैं उसे धोनें के लिए जानें के लिए अनुमति लेनें के लिए चला गया| मेरे मुर्गा मुश्किल था मैंनें ध्यान नहीं दिया लेकिन मेरे मुर्गा उसके चेहरे से कुछ ही इंच थे|| जब मैं अपनी नौकरी करनें के बाद कक्षा में वापस आ गया! उसनें मुझसे कहा कि आज वह एक अध्याय में संशोधन कर रही है जिसमें मुझे बहुत सी कठिनाइयां थीं और कुछ दिनों के लिए उसे उसी में संशोधन करनें के लिए कहा था| मुझे वापस रहना होगा और कक्षाओं में भाग लेना होगा| मुझे इसके साथ कोई समस्या नहीं थी इसलिए मैंनें घर बुलाया और कहा कि मैं कक्षा के कारण देर से वापस आ जाऊंगा|
पूरे दिन सामान्य हो गया| जब कक्षा के लिए समय आया! मुझे एहसास हुआ कि मैं केवल एक ही व्यक्ति हूं जो वापस रह गया है| मैंनें अपनें दूत को आ रहा देखा वह एक सफेद सलवार सूट पहनती थी और एक शाल में लिपटे थी|
उसनें मुझे उसके सामनें बैठनें के लिए अनुरोध किया क्योंकि कक्षा में कोई और नहीं था और उसके गले में भी दर्द हो रहा था| मैं हिचकिचाहट के रूप में सहमत हुए क्योंकि विशाल पहाड़ों मुझे विचलित कर देंगे जबकि शिक्षण नें उसे शाल हटा दिया और कहा कि यह यहां बहुत गर्म है|
अब मैं उसकी लाल ब्रा की रूपरेखा देख सकता था मेरी आंखें अब उनसे चिपक गई थीं| जो कुछ उसनें कहा वह मेरे कानों में गया था| वह जल्द ही एहसास हुआ कि यहां संपत्ति मुझे ध्यान भंग कर रही थी| उसनें अपनें गले को साफ कर दिया और पूछा! “शिव क्या है?”
मैंनें कहा कुछ नहीं याद आती है

loading...

फिर उसनें कहा कि मैं अपनें जीवन काल में कभी भी नहीं भूल सकता “क्या उन पर करीब से नजर रखना चाहते हैं?”
मुझे चौंक गया और मेरा सिर एक सकारात्मक तरीके से हिलाकर रख दिया|
उसनें अपना हाथ पकड़ा और उसे अपनें स्तन पर रख दिया और उन्हें दबाया|
वह लग रहा था भयानक था ऐसा लगा जैसे मैं नरम मक्खन दबा रहा था| उसके निपल्स बन गए मैंनें कपड़े से केवल उसके निप्पल को तंग किया मैंनें उन्हें सौम्य निचोड़ दिया था जो कि उसे मुंह बनानें के लिए पर्याप्त कठिन था|
तब हम अपनें होंठों को बंद कर देते थे| और धीरे-धीरे यह एक गहन चूची में बदल गया था| मैं अभी भी कपड़े पर उसके स्तन के साथ मज़ाक कर रहा था और वह मेरे स्कूल के पतलून से मेरे मुर्गा रगड़ रहा था उसनें एक शरारती मुस्कुराहट पार कर ली और मेरे लिए अगले चरण में प्रगति करनें के लिए पर्याप्त था| मैंनें अपनें सलवार को पीछे से खोल दिया और अपनें पजामा के समुद्री मील को ढंक कर दिया| एक पल में मेरी परी सभी नीचे उसकी जांघिया के लिए थी| एक लाल ब्रा बड़े पैमानें पर globes और मिलान रेशम जाँघिया|
मैं इतना उत्साहित था कि मैंनें उसकी ब्रा के हुक को तोड़ दिया और एक बच्चे की तरह उसके स्तनों को चूसा| उसनें मेरे सिर को उसके स्तन पर धकेल दिया! मुझे उनसे अधिक चाटना करनें के लिए राजी कर दिया| मैंनें अपनें प्रत्येक ग्लोब और उसके निपल्स के लिए पर्याप्त समय दिया फिर मेरा हाथ उसकी जाँघिया में गया था और मैंनें जो पाया वह साफ मुंडा बिल्ली थी! गीली टपकती थी|
मैंनें उन्हें चोद दिया और उंगलियों तक उछालनें की कोशिश की|
अब उसनें मेरे जिपर को ढक लिया और मेरी पहले से ही मुश्किल मुर्गा बाहर निकाला| पूर्व सह टिप से oozing था और वह यह चाट और एक शरारती मुस्कान दिया फिर उसनें मुझे उड़ा देना शुरू कर दिया! जो कि मैंनें कभी भी प्राप्त किया था सबसे भयानक झटका नौकरी थी| उसनें मुझे उसके मुंह में सह करनें के लिए कहा और मैं ऐसा करनें के लिए बाध्य था
अब यह समय था कि हमारे शरीर क्या तरस रहे थे|| वह बेंच पर मेरे मुंह का सामना करना पड़ रहा था| मैंनें अपनें मुर्गा को अपनें मखमली बिल्ली में निर्देशित किया मैंनें छोटी सी शुरुआतओं के साथ शुरू किया और यह उसके मुंह से मुकाबला हुआ था| कोई समय में उसे बिल्ली मेरे राक्षस को घेर रहा था उसनें मुझसे कहा था कि कोई भी उसे इतनी गहरी नहीं खोला है! उसके पति भी नहीं|

फिर मैंनें उसके साथ गुदा की कोशिश की| यह हमारे दोनों के लिए दर्दनाक था! लेकिन अंत में खुशी में समाप्त हो गया|
हमारे पास चार तेज राउंड थे| और मज़ा कुछ समय तक जारी रहा|
उस शाम घर वापस लौटनें के बाद! हमें स्कूल बस में और अधिक शिक्षकों और छात्रों की उपस्थिति में कुछ रोमांच था|
मैंनें अपनी कई कल्पनाओं को पूरा किया

loading...