loading...

“मैंने अपनी सगी कुँवारी मैसी की चुदाई की “

दोस्तों ये बात आज से 3 सा पहले की है| नवम्बर के महीनें में मैं अपनी नानी के घर पार गया हुआ था| मेरी नानी का विलेज वाराणसी यानी की बनारस से 23 किलोमीटर है| ठंडी के दिन थे| उस टाइम मेरे नानी के घर पे बस नानी| नाना| और मेरी दो मौसियाँ थी|
मेरी छोटी मौसी किसी भोजपूरी ऐक्ट्रेस के जैसी सेक्सी है| उसका फेस एकदम मासूम मोनालिसा के जैसा है| और उसके बूब्स चेस्ट के ऊपर खरबूजे के जैसे बड़े बड़े है| और एकाद बार गलती से मेरा टच हो गया बूब्स को तो वो बड़े ही सॉफ्ट थे| उसकी कमर पतली है बूब्स के अनुपात में और निचे की गांड फिर से फैली हुई है बूब्स वाले भाग के जैसे ही| मौसी की उम्र मेरे से 5 साल ही ज्यादा है और वो सिर्फ 12 तक पढ़ी है|

loading...

मौसी का नाम उषा है और उसके ऊपर पुरे विलेज के मर्द लाइन मारते है| पर जहाँ तक मुझे खबर थी उसका अभी तक किसी के साथ भी चक्कर नहीं था| क्यूंकि मेरे नाना जी टपोरी और बदमाश रहे है इसलिए वो उनसे बहुत ही डरती है| लेकिन अंदर से उसका बदन भी ठडक रहा था और जोश चढ़ा हुआ था उसे भी|
बिजली की कटोती थी| इसलिए उस रात मेरा बहुत मन था की मैं छत पर सोनें के लिए जाऊं| इसलिए नानी और दोनों मौसी नें कहा हम भी तेरे साथ आयेंगे| लेकिन आधी रात में जब ठंडी हवाएं चली तो हमनें सोचा निचे जानें के लिए| और तब तक पॉवर भी आ गया था|
 

लेकिन मैं और उषा मौसी एक कम्बल में पड़े रहे| मेरी बड़ी मौसी और नानी जी निचे चली गई| अकेले में और मौसी को दुपट्टे के बिना देखा तो मेरे अन्दर का मर्द उफान पर आ गया| मैंनें उस दिन तो अपनें लंड को हिला लिया उसके नशीले चुंचे देख के|
अगली रात को नानी नें कहा मैं छत पर नहीं आउंगी इसलिए मैं और उषा मौसी छत पर गए| आज ठंडी कम थी लेकिन हम दोनों कम्बल में ही थे| मैनें कहा| मौसी एक बात पूछूं आप से?
वो बोलीहाँ पूछना|
मैंनें कहा| मौसी ये बच्चे कैसे पैदा होते है?
वो एकदम जोर से हंस पड़ी और बोली मुझे नहीं पता है वो सब तुम ही बता दो|
मैं: हमारे बुक्स में लिखा है की बॉयज को अपना वो गर्ल्स के अन्दर डालना होता है और तब बेबी हो जाता है|
मौसी को भी मेरे मुहं से ये सब सुन के मजा आ रहा था|
उषा मौसी: अरे ऐसे नहीं विस्तार से बताओ तो मैं समझूंगी
और उसनें जब ये कहा तो उसके चहरे के ऊपर एक अलग ही हवस नजर आ रही थी मेरे को| उसकी चुदास और कामुकता जाग उठी थी|
मैंनें कहा रुको मौसी पहले मैं छत का दरवाजा बंद कर देता हूँ और फिर आप को समझाता हूँ|
मैंनें फट से जा के दरवाजे को अंदर से बंद कर लिया ताकि कोई कबाब में हड्डी न बनें|
मैं वापस आया तो उषा मौसी गद्दे में लेटी ही थी और उसके बूब्स क़यामत लग रहे थे| उसनें मुझे इशारे से अपनें पास लेटनें को कहा|
मौसी: अच्छा अब बताओ मेरे को की बच्चे कैसे पैदा होते है|
मैंनें कहा| मैं बताता हूँ लेकिन जैसे मैं बोलूँगा वैसे करोगी?
उषा मौसी नें हँसते हुए कहा हां बाबा करुँगी तू बता मुझे|
मैंनें कम्बल ओढ़ लिया और अन्दर उसके गाल के ऊपर किस करनें लगा| आप लोगों को पता ही ही होगा की शर्दी के अन्दर कम्बल में कितना मज़ा आता है!
मैंनें उषा मौसी को एकदम अपनें से चिपका लिया था| पहले नोर्मल सा लिप किस फिर धीरे धीरे फ्रेंच किस करना चालू कर दिया| हम दोनों बस खो गए थे उस वक्त एकदम से| मैंनें अपनें हाथ से उनके कमर को पकड लिया था|
मैं उसके नेंक पर पीछे और उसके कान के पीछे वाले हिस्से पर गरम साँसे छोड़ना आगा| ऐसा करते ही उषा मौसी भी तेज तेज और गर्म साँसे लेनें लगी| गाँव में सब उस समय तक सो जाते है इसलिए दोनों बेफिक्र हुए मजा लूट रहे थे|
फिर मैंनें गर्म हाथ को उनके पेट पे सहलाना चालू कर दिया| उसके कमर को मसाज करना चालु किया| उसके नाभि को भी किस कर दिया| और स्यूट के अन्दर हाथ डाल दिया| और उसकी ब्लेक कलर की ब्रा हल्का हल्का दबानें लगा| ऐसा मैंनें 2 मिनिट ही किया और उसनें धीरे से बोला की ब्रा के अन्दर हाथ दो प्लीज़|
मैंनें उसके स्यूट को पूरा खोला और ब्रा को खोल दिया| उसके दूध जैसे गोरे बूब्स को दबानें लगा मैं| वो सिस्कारियां लेनें लगी| आह्ह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह और उसनें अपनी आँखे बंद कर ली और उस समय एन्जॉय कर रही थी| फिर मैंनें उसके बूब्स को गोल गोल दबानें लगा|
मौसी के निपल्स एकदम टाईट हो गए थे| फिर मैंनें उनके निपल्स को छोटे बेबी के जैसे चूसनें लगा| वो मेरे बालों को सहला रही थी| ऑलमोस्ट 10 मिनिट तक मैंनें मौसी के बूब्स को अच्छे से दबाया और चूसा|
अब मैंनें अपना हाथ उनकी सलवार में डाल के नाड़े पर रखा और फिर नाड़े को खोल दिया|
मैंनें मौसी की जांघो को टच और मसाज किया और बाद में उनकी ब्लेक ब्लेक पेंटी के ऊपर से हाथ फेरनें लगा| मुझे हाथ फेरते ही पता चला की वो एकदम गीली हो चुकी थी| मैंनें मौसी की पेंटी के अन्दर हाथ डाल दिया और उनकी चूत के क्लाइटोरिस पे अपनी ऊँगली रख दी| और धीरे धीरे ऊपर निचे उनकी चूत को हिलानें लगा| और उसकी गीली चूत में अपनी 2 ऊँगली को अन्दर और बहार करनें लगा| 5 मिनिट तक मैंनें ऐसा किया|
और फिर अपनी जबान से मैं मौसी की चूत को चाटनें लगा| वो इतनी एक्साइट हुई थी की वो हिलनें लगी और मैंनें ऐसा तक मिनिट तक किया|
उषा मौसी अभी तक वर्जिन ही थी इस से पहले कभी किसी लड़के नें उसके साथ सेक्स नहीं किया था| उसका ये पहला अनुभव था और इसलिए वो अपनी गीली चूत के मजे देते हे जोर जोर से सिस्कारियां भर रही थी|
आह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ओह ओह अह्ह्ह्ह और करो भांजे! अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह और जोर से चाटो मेरी मुनिया को| मेरी प्यास को आज अपनें लंड से भुजा दो मेरी नन्ही जान| अब जल्दी से मुझे वो भी दे दो अपनी मुनिया के अन्दर|
मैं भी बहुत ही कामुक हो गया था और मैंनें अपनी पेंट को खोला और अपना 6 इंच लम्बा लंड उसकी टाईट चूत के ऊपर रख दिया| क्यूंकि मेरी मौसी वर्जिन थी इस्लि मैंनें बिना कंडोम के ही उसके साथ चुदाई करनें को सोचा|
उसकी चूत बहुत ज्यादा गीली हो गई थी और उसकी गीली चूत में अपना लंड डाला ही की वो मना करनें लगी क्यूंकि उसे बहुत दर्द होनें लगा था| मैंनें बोला शांत हो जाओ और मैंनें उसके दोनों टांगो को अपनें कंधो केऊपर रख दिया और उसकी गांड के निचे तकिया लगा दिया और जोर जोर इ धक्का दिया| और अब मेरा आधा लंड मौसी की चूत में घुस चूका था|
वो चिल्लानें ही वाली थी की मैंनें उसके होंठो पर अपनत होंठो को लगा दिए और 2 3 मिनिट बाद जब वो थोड़ी शांत हुई तो पूरा लंड मैंनें अन्दर डाल दिया| पहली बार मैं 5 7 मिनिट ही चला की तब तक उसके अन्दर ही मैं झड़ गया|
फिर मैंनें उषा मौसी के पास ब्लोव्जोब करवाया और फिर पांच मिनिट में मेरी हवस जग उठी| और उसके बाद सिम्पल लिटा के 45 मिनिट तक मैंनें उषा मौसी को चोदा|
फिर मैंनें मौसी को घोड़ी बना दिया और जब उसको चोदना स्टार्ट किया तो लग रहा था की मेरी मौसी सनी लियोन थी जिसे मैं चोद रहा था| जब मैं थक गया तो उसको अपनें गोदी में ले के खूब चोदा| हमनें सेक्स की स्टार्टिंग रात को करीब 11 बजे चालु किया था और सुबह के 3 बजे तक हम चोदते रहे|
फिर हम दोनों निचे एक साथ बाथरूम में भी नहाये और मैंनें उसको दिवार पकड़ा के फिर से उसको चोदा|
फिर हमनें सोनें चले गए| मैं नानी के घर पुरे 10 दिन के लिए गया था| और उन 10 दिनों में मैंनें शायद मेरी इस सेक्सी मौसी को 40-45 बार चोदा| और एक रात को मैं जेली ले के गया था रात को छत पर| बहुत मनानें के बाद ही मौसी नें गांड भी मारनें को दी| और फिर उसनें कहा की गांड में लेनें में उसे मजा आया था|

loading...