loading...

“जीजू ने शादी से पहले मेरी कुँवारी चुत का भोग लगाया”

दोस्तों मैं लिखनें के मामले में नयी हूँ| बहुत सी कहानी पढ़ी मैंनें यहाँ पर और कुछ पढ़ के बहुत गरम भी हो गई| और कुछ स्टोरी मेरे को फेक भी लगी| मैं अपनी एक दोस्त के लेपटोप पर आज ये कहानी लिख रही हूँ| चलो अब सीधे स्टोरी पर आती हूँ| मेरा नाम है जूही देसाई और मैं भावनगर की रहनेंवाली हूँ| मेरी उम्र 23 साल की है और मैं अभी सिंगल हूँ| मेरा फिगर 32 30 36 का है और स्किन थोड़ी लाईट कलर की है| ये मेरी सच्ची कहानी है जो आज से कुछ 6 महीनें पहले की है| मैं एक प्राइवेट कम्पनी में जॉब करती हूँ| मेरी फेमली में मेरी माँ! मेरे पापा और एक बड़ी बहन है मेरे सिवा|

बात उन दिनों की जब मेरी बहन की शादी फिक्स हो गई थी और सब रीती रिवाज से फंक्शन हो रहे थे| बात दीदी के संगीत वाली नाईट की है| उस दी मैंनें रेड कलर का डीप नेंक का लॉन्ग वन पिस पहना हुआ था और मस्त गानें बज रहे थे| मैं सब कजिन लोगो के साथ डांस कर रही थी| और डांस करते समय डीप नेंक की वजह से मेरे बूब्स बड़े बाउंस हो रहे थे| और पार्टी के अंदर आये हुए सब लड़के मेरे को ऐसे देख रहे थे जैसे कुत्ते के सामनें हड्डी| पर मेरा पूरा ध्यान पार्टी की मस्ती में ही था और मैं किसी को भी नहीं देख रही थी| और डांस करते हुए मैंनें अपनी दीदी और जीजा को भी स्टेज पर बुलाया और वो भी आके हमारे साथ डांस करनें लगे|

सब ठीक चल रहा था और मेरे जीजू मेरे पास और बोले की साली जी एक डांस आप अकेले हमारे साथ भी कर लो| मैंनें कहा क्यूँ नहीं जीजा जी आप तो जीजा है हमारे और आप का तो पूरा हक़ बनता है| और ये बोल के हम दोनों यानी की मैं और जीजू कपल डांस करनें लगे| मैंनें नोटिस किया की मेरे जीजा डांस करते हुए बार बार अपनें हाथ को कमर से निचे ले जा के मेरे चूतड़ को दबा रहे थे| मुझे थोड़ा अजीब तो लगा लेकिन उस वक्त कुछ भी कहना उचित नहीं लगा| पार्टी छोड़ के मैं ऊपर अपनें कमरे में आ गई| पार्टी ख़त्म ही हो गई थी| इसलिए सब लोग अपनें अपनें कमरे में सोनें जानें लगे| और जिन लोगो को वापस घर जाना था वो भी निकलनें लगे थे| कजिन लोगों नें मिल के ड्रिंक करनें का प्लान बनाया और मेरे चाचा जी का लड़का एक व्हिस्की की बोटल ले के आ गया| और मुझे भी उसनें कॉल कर के टेरेस पर बुला लिया|

अब मैंनें ड्रेस चेंज कर दिया था और एक ब्लेक नाइटी पहनी हुई थी मैंनें| मैं रात के टाइम पर ब्रा और पेंटी नहीं पहनती हुई| मैं नाइटी के ऊपर एक शाल डाल के ऊपर छत पर चली गई ड्रिंक के प्रोग्राम में| सब साथ मैं बैठ के दारु पि रहे थे| मैंनें भी 2 पेग बनवा लिए अपनें लिए| और मुझे हलकी हलकी चढ़नी स्टार्ट हो गई थी इसलिए मैं अपनें कमरे में वापस आ गई और सोनें की कोशिश करनें लगी| पर बार बार मेरे दिमाग में वू पार्टी वाली बात ही आ रही थी| जीजा जी का मेरे चूतड टच करना! और वो सोच के मेरे बदन में एकदम अलग ही फिलिंग सी होनें लगी थी|

आज से पहले किसी भी आदमी नें मुझे चूतड के ऊपर टच नहीं किया था इसलिए मुझे वो टच कुछ अलग ही लगा! और सच कहूँ तो अब मुझे लगा की वो टच बड़े ही अच्छे थे| थोड़ी देर के बाद मेरे रूम के दरवाजे के ऊपर किसी नें नोक किया| मैंनें जब जा के दरवाजा खोला तो वहां पर जीजू खड़े हुए थे| उनको देख के ही पता चल रहा था की उन्होंनें भी खूब ड्रिंक किया हुआ था| मैंनें उनको रूम में आनें के लिए बोला और वो आके मुझे हग करनें लगे| और उन्होंनें मुझे अपनें सीनें से लगा लिया| इतना टाईट हग किया था की मैं हिल भी नहीं पा रही थी| मैंनें जीजू से कहा की आप क्या कर रहे हो जीजू| प्लीज़ मेरे को छोड़ दो| मैं आप की बीवी नहीं साली हूँ|

जीजू:- मुझे पता है की तुम मेरी साली ही हो! तुम्हारी बहन तो कब की सो गई और मैं इसलिए ही उसके सोनें के बाद तेरे पास आया हूँ| आज संगीत में क्या हॉट परफॉर्म किया तूनें और आज मेरा दिल तेरे ऊपर आ गया है मेरा बस चले तो मैं तेरे साथ ही शादी कर लू|

मैं:- जीजू आप नशे में हो बकवास कर रहे हो आप की शादी दीदी से है वो भी सिर्फ दो दिन के अंदर! चलो आप जाओ यहाँ से|

मैं उसके आगे कुछ और कहती उसके पहले तो जीजू नें मुझे दोनों तरफ कमर से पकड लिया| अरे पकड़ा नहीं दबोच ही लिया था उन्होंनें मेरे को| और फिर वो मेरे फॉरहेड के ऊपर किस कर के बोले अरे कुछ देर तो चुप रहो यार| सच कह रहा हूँ तेरे से प्यार हो गया है

और जीजा अब मेरे होंठो के ऊपर चूमनें लगे और मेरे ना चाहते हुए भी मुझे उनका साथ देना पड़ रहा था| उफ़ क्या स्टाइल था उनकी किस करनें का| 5 मिनिट बाद मैं भी अब जीजा का पूरा साथ देनें लगी थी किस करनें में| अब वो मेरी नेंक पर किस कर रहे थे और मेरी नाइटी के ऊपर से ही मेरे बूब्स को बार बार दबा रहे थे| मैं आंक्खे बंद कर के बस फिल कर रही थी क्यूंकि ये सब मेरे लिए नया था| फिर उन्होंनें मेरी नाइटी निकाल दी और मेरे बूब्स को देख के वो चौंक पड़े और बोले अरे वाह क्या फिगर है तेरा मेरी जान| और फिर मेरे बूब्स को जोर जोर से मसलनें लगे और चूसनें भी लगे| मेरे मुहं से बस अह्ह्ह अह्ह्ह ओह्ह्ह्ह ओह्ह्ह्ह निकल रहा था|

मैंनें कहा! जीजू आप ये सब क्या कर रहे हो मत करो ना प्लीज़| मैं लुट जाउंगी|

loading...

जीजू नें बोला आज से तू मुझे जीजू नहीं लेकिन सिर्फ अमित कह के बुलाया कर मुझे अच्छा नहीं लगता तू मेरे को जीजा जीजा कर रही है वो|

धीरे धीरे उनका हाथ मेरी चूत की तरफ बढ़नें लगा था और उनके टच करनें से मैं एकदम गीली होनें लगी थी| उन्होंनें अपनी मिडल फिंगर को अंदर डाल के मेरी चीख ही निकाल दी| क्यूंकि चूत बहुत टाईट थी मेरी| मुझे दर्द में देख के जीजू को जैसे ख़ुशी मिल रही थी|

फिर उन्होंनें अपना टी शर्ट और लोअर निकाला| जैसे ही मैंनें उनका लंड देखा तो मैं शॉक हो गई शायद वो पुरे 8 इंच का था और मोटाई में भी कम से कम 3 इंच का था| जीजू नें मेरे हाथ को पकड के उसके अंदर अपना लंड रख दिया और बोले चूस मेरे लोडे को और अपनें हाथ से हिला दे| मैं बोली अरे जीजू इतना बड़ा लंड मैं कैसे मुहं में ले पाउंगी| वो बोले अरे तू घबरा मत सब कुछ हो जाएगा|

इतना कह के उन्होंनें रूम के डोर को अंदर से बंद किया और मुझे लंड चुसानें लगे| मैंनें करीब 10 मिनट तक लंड को चूसा और फिर जीजा नें मुझे अपनी गोद में उठा लिया और बेड पर लिटा दिया|

अब अपनी थूंक मेरे चूत पर लगा दी और चूत को खोल के लंड डालनें के लिए रेडी हो गए| मेरे ऊपर आ के मुझे किस कर रहे थे| जैसे ही मैंनें किस करना स्टार्ट किया उन्होंनें लंड अंदर डाल दिया और ही झटके में शायद दो इंच मेरी चूत में घुस गया| मेरी चीख निकल गई अह्ह्ह्ह अह्ह्ह मम्मी मर गई अरे जिजूऊऊउ अह्ह्ह्ह बहार निकालो मेरे को दर्द हो रहा है अह्ह्ह्हह्ह| और मैंनें देखा की मेरी चूत से खून निकलनें लगा था| जीजू एक पल के लिए रुक के मेरी चूत से निकलते हुए खून को देखनें लगे| और जैसे उन्होंनें बड़ा तीर मारा हो वैसे वो खुश लग रहे थे|

वो मेरे बूब्स को दबानें लगे और किस करनें लगे जैसे ही दर्द कम हुआ उन्होंनें एक और झटका लगा के पूरा लंड मेरी चूत में डाल दिया| मेरे आंसू निकल गए और उन्होंनें मेरी चुदाई स्टार्ट कर दी| मुझे जानवरों के जैसे चोद रहे थे| मैं उनकी हवस को और बढ़ावा दे रही थी| मैं बस अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ओह्ह्ह ओह्ह कर रही थी| अब मुझे भी मजा आ रहा था| और मैं बोल रही थी कम ओन जीजू फक मी हार्ड|

जीजू नें मेरे को एक जम के थप्पड़ रसीद किया और बोले जीजू मत बोल साली अमित बोल|

करीब 20 25 मिनिट तक ऐसे ही मेरी चुदाई करते रहे जीजू और फिर अपना सारा के सारा माल उन्होंनें मेरी चूत में ही छोड़ दिया| और फिर कुछ देर रेस्ट करनें के बाद वापस मुझे बोले के चल लंड चूस| और फिर कहा की आज तो मैं पूरी रात तेरे को चोदुंगा मेरी रानी आज से तू मेरी रखेल है|

मैंनें लंड को मुहं में ले के खूब चूसा और जीजू नें अब मुझे निचे लिटा दिया| मेरे बूब्स को दोनों हाथ में पकड़ा दिए और बोले अब मैं बूब्स फक करूँगा मेरी सेक्सी साली के|

और उन्होंनें दोनों बूब्स के बिच में थूंक वाला लंड डाला| और वो बूब्स फक करनें लगे| फिर उन्होंनें अपनर गर्म गर्म लंड को मेरी दोनों निपल्स के ऊपर भी घिसा| मैं फिर से उत्तेजीत हो गई थी| और मेरी चूत में पानी चूत चूका था| जीजू नें अब मेरे को घोड़ी बननें को कहा| मैं गांड को पीछे से उठा के घोड़ी बन गई| वो पीछे से आये और बोले! आज तो तेरी गांड मार नहीं सकता नहीं तो तेरे दोनों होल में पेन होगा| एक दो बार और चुदाई करूँगा फिर तेरी गांड भी मारूंगा|

और फिर उन्होंनें अपना बड़ा लंड मेरी चूत में घुसा दिया| मेरे को कंधे के पास से पकड के वो मेरे को कस कस के चोदनें लगे| मेरी बच्चेदानी तक उनका लंड जा के लड़नें लगा था| और वो मेरे को अह्ह्ह्ह अह्ह्ह करवा के चोदते ही गए| दीदी की शादी बचानें के लिए मैं रातभर रतिक्रिया करवाती रही जीजू से| उन्होंनें मेरी चूत को पूरा सुजा दिया था और लाल कर दिया था| मोर्निंग में वो जल्दी उठ के मेरे कमरे से चले गए| आज भी जब उनका मत होता है वो मेरे को बहार होटल में ले के जाते है| अब उनका 8 इंच का लंड मेरी गांड में भी जा के आया हुआ है| और सच कहूँ तो मेरे को खुद ही अब उस बड़े लंड से चुदनें की इच्छा रहती है| और मैं वेट करती हूँ की वो कब मेरे को चोदेंगे|

loading...